BIG NEWS: गोपाष्टमी पर्व पर जीरन गौशाला में होगा गौमाता का अन्नकूट, गौवंश का होगा विशेष श्रृंगार, सैकड़ो क्विंटल लापसी का आहार, इसलिए कहलाता है मालवांचल का अनूठा आयोजन

गोपाष्टमी पर्व पर जीरन गौशाला में होगा गौमाता का अन्नकूट, गौवंश का होगा विशेष श्रृंगार, सैकड़ो क्विंटल लापसी का आहार, इसलिए कहलाता है मालवांचल का अनूठा आयोजन

BIG NEWS: गोपाष्टमी पर्व पर जीरन गौशाला में होगा गौमाता का अन्नकूट, गौवंश का होगा विशेष श्रृंगार, सैकड़ो क्विंटल लापसी का आहार, इसलिए कहलाता है मालवांचल का अनूठा आयोजन

जीरन। श्री महावीर गौशाला जीरन में गोपाष्टमी पर्व विशाल स्तर पर अनूठे आयोजन के साथ 22 नवंबर रविवार को मनाया जायेगा। जिसमें गौमाता के लिए अन्नकूट आयोजन,गौपूजन एवं अन्य आयोजन किये जायेंगे।

इस अवसर पर गौशाला में 21 लाख रुपए की लागत से बन रहे घास गोदाम का भूमि पूजन किया जाएगा । मालवांचल के इस अनूठे आयोजन में नीमच जिला कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे कलेक्टर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहेगें।

श्री महावीर गौशाला जीरन में प्रतिवर्ष मनाये जाने वाले गोपाष्टमी पर्व पर वृहद स्तर पर गौमाता का पूजन तथा गौवंश के लिये विशाल अन्नकूट का आयोजन किया जाता है।गोपाष्टमी पर्व पर गौशाला में मौजूद 650 गायों को सजाकर, मेहंदी लगाकर गले में घंटियाँ भी बाँधी जाएगी व गौमाता के लिये आयोजित अन्न्कूट महोत्सव में गायों के लिय क्विंटलो शुद्ध गुड की लापसी, कपास के लड्डू व क्विंटलो कच्ची सब्जियों का आहार गौवंश को करवाया जाएगा। गौपूजन के दौरान गायों को सांकेतिक रूप से रजत के आभूषण भी धारण करवाये जायेगे। 

इस दौरान गौशाला में कार्यरत सभी गौसेवकों का सम्मान कर उन्हें नवीन वस्त्र प्रदान किये जायेगे। गोपाष्टमी पर्व दिनांक 22 नवंबर 2020 रविवार प्रातः 10.30 बजे प्रारंभ होकर दोपहर चलेगा। वह इस आयोजन में बडी संख्या में नगर व आसपास के नागरिक ने इस पुनीत आयोजन में हिस्सा लेंगे। 

जीरन तालाब किनारे स्थित श्री महावीर गौशाला जीरन पिछले 22 वर्षों से गौसेवा के कार्य में संचालित है। करीब 10 बीघा परिसर में फैली गौशाला में 650 से अधिक गौवंश हैं तथा इनकी देखभाल हेतु 13 कर्मचारी तथा एक स्थाई डॉक्टर पदस्थ है। श्री महावीर गौशाला जीरन में मालवांचल में गौपाष्टमी पर्व पर गौमाता के लिये अन्नकूट का पहला अनूठा आयोजन होता है।