NEWS: कॉलेज के विद्यार्थियों ने बैंकिंग कार्यप्रणाली को समझा, बैंक ड्राफ्ट की पर्चियां भरने सहित कई कार्यों में की सहायता 

कॉलेज के विद्यार्थियों ने बैंकिंग कार्यप्रणाली को समझा, बैंक ड्राफ्ट की पर्चियां भरने सहित कई कार्यों में की सहायता 

NEWS: कॉलेज के विद्यार्थियों ने बैंकिंग कार्यप्रणाली को समझा, बैंक ड्राफ्ट की पर्चियां भरने सहित कई कार्यों में की सहायता 

छोटीसादड़ी। समाज में व्याप्त समस्याओं को निस्वार्थ सेवा द्वारा हल किया जा सकता है। युवा अपने प्रयासों से किसी एक प्राणी का भी भला कर पाए तो आनंद की अनुभूति प्राप्त कर सकते हैं। विद्यार्थियों में इन्हीं भावों को जाग्रत करने की दिशा में राजकीय महाविद्यालय द्वारा आनंदम गतिविधि  के तहत विभिन्न आयोजन किए जा रहे है।

नोडल ऑफिसर प्रोफेसर सुमन कुमारी ने बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा की छोटीसादड़ी शाखा में निरक्षर व्यक्तियों, महिलाओं एवं बुजुर्गों की बैंकिंग कार्यों में सहायता के लिए पिछले एक पखवाड़े से चेताली नागौरी की लीडरशिप में 15 छात्राओं ने सेवा कार्य किया है। रोजाना लगभग दो घंटे तक बैंक में उपस्थित रहकर इन्होंने बैंकिंग कार्यप्रणाली को समझा तथा निरक्षर बैंक ग्राहकों की जमा, आहरण तथा बैंक ड्राफ्ट की पर्चियां भरने सहित कई कार्यों में सहायता की। 

बैंक के शाखा प्रबन्धक जगदीश सोलंकी ने विद्यार्थियों के इस सेवा कार्य की प्रशंसा की तथा इन युवाओं को समाज की दिशा तय करने वाला बताया। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा में आनंदम गतिविधि के माध्यम से महाविद्यालय द्वारा छात्र-छात्राओं में निस्वार्थ सेवा के भाव उत्पन्न करके समाज में महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है।
इस प्रोजेक्ट में अनुबंधना शर्मा, काजल बावरी, प्रियल जोशी, पूजा जोशी, कृष्णा माली, खुशहाली टेलर, दुनिता बावरी, योगिता कुमावत सहित कई छात्राओं ने बैंकिंग कार्य में लोगों की सहायता की। 

बैंक सेवा प्रोजेक्ट के अंतिम सत्र के समापन के साथ आनंदम दिवस भी मनाया गया। जिसमें प्रोफेसर प्रवीण कुमार जोशी द्वारा विभिन्न समूहों की गतिविधियों के कार्यों की समीक्षा की गई एवं प्रतिवेदन प्रस्तुत किए गए। समूह लीडर मनीषा अहीर, प्रेमचंद मीणा, मोनिका पाटीदार ने अपनी गतिविधियों के लिखित दस्तावेजों सहित क्रियाकलापों की जानकारी से विद्यार्थियों को रूबरू करवाया।