NEWS: मल्हारगढ़ में विधि विधान के साथ मनाया गया दशा माता का त्यौहार, महिलओं ने पूजा अर्चना कर की सुख शांति और समृद्धि की कामना

मल्हारगढ़ में विधि विधान के साथ मनाया गया दशा माता का त्यौहार, महिलओं ने पूजा अर्चना कर की सुख शांति और समृद्धि की कामना

NEWS: मल्हारगढ़ में विधि विधान के साथ मनाया गया दशा माता का त्यौहार, महिलओं ने पूजा अर्चना कर की सुख शांति और समृद्धि की कामना

मल्हारगढ़। प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी नगर के अंदर दशा माता का पर्व मल्हारगढ़ नगर के बीचों-बीच माता भवानी जी का मंदिर है। उनके सामने सैकड़ों वर्ष पुराना पीपल का वृक्ष है। उस वृक्ष की पूजा अर्चना पूरे नगर की माताएं बहने प्रात स्नान कर नवीन वस्त्र पहनकर श्रंगार कर पूजा की सामग्री थाली में सजाकर के दशा माता का पूजन करती है। पीपल के वृक्ष का पूजन करती है। पूरी विधि विधान से नगर पुरोहित पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष पंडित राजेश दीक्षित मंत्र उच्चार के साथ पूजा करवाई। 

इसमें नगर महिलाओं ने अपने बारी का इंतजार करते हुए लाइन में लगकर के की पूजा और दशा माता की पूजा क्यों करते हैं। इसके बारे में ऐतिहासिक प्रामाणिक पौराणिक कथा नगर पुरोहित पंडित राजेश दीक्षित ने सभी माता बहनों को श्रवण करवाई। दशा माता की कथा पर बोलते हुए बताया कि दशा माता से मन्नत मांगने के लिए इस पीपल के जिसमें भगवान कृष्ण का वास होता है। इसके डोरा बांध करके इसकी परिगिमा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है, तथा घर में धन-धान्य का भंडार भरा रहता है सुख शांति प्राप्त होती है।

पंडित जी ने आगे बताया कि दशा माता व्रत की प्रमाणिक कथा के अनुसार प्राचीन समय में राजा नल और दमयंती रानी सुखी और संपन्न अपने राज्य में राज्य किया करते थे। जब राजा नल दशामाता और दशा माता के डोरे का अपमान करने के पश्चात जिस प्रकार से राजा नल का राज्य सुख चैन सबका विनाश हो गया और उसे अपने राज्य को छोडक़र बाहर जाना पड़ा और कई संकटों का सामना राजा रानी और पूरे राज्य को करना पड़ा।

कई वर्षों तक दर-दर भटकने के पश्चात पुन: राजा और रानी ने दशा माता का पूजन किया एवं दशा माता का आह्वान किया और दशा माता राजा और उसके राज्य पर प्रसन्न हुई। दशा माता की पूजा आराधना के बाद राजा रानी के वहीं पहले जैसा ठाठ बाट हो गया। इसी पौराणिक कथा के अनुसार आज भी महिलाएं दशा माता और पीपल का पूजन कर अपने घर परिवार में सुख शांति और समृद्धि के लिए इस व्रत का त्यौहार करती है। कथा का वाचन और पूजा के दौरान शासन की कोरोना गाइडलाइन कोविड-19 का पूरा पूरा पालन किया गया।

पुलिस प्रशासन एसडीओपी टी. सी. पंवार थाना प्रभारी नरेंद्र यादव के नेतृत्व में महिला पुलिस इस दशा माता के पूजन के कार्यक्रम में शांति व्यवस्था बनाए रखने में दशा माता पूजन स्थान पर मुस्तैद थे।