BIG NEWS: दो अपहरण, तो एक गुमशुदगी की FIR, फिर दलौदा पुलिस का एक्शन प्लान, तीनों बालिकाओं को किया दस्तयाब, इस प्रकरण में एक आरोपी गिरफ्तार, पढ़े नरेंद्र राठौर की खबर

दो अपहरण, तो एक गुमशुदगी की FIR, फिर दलौदा पुलिस का एक्शन प्लान, तीनों बालिकाओं को किया दस्तयाब, इस प्रकरण में एक आरोपी गिरफ्तार, पढ़े नरेंद्र राठौर की खबर

BIG NEWS: दो अपहरण, तो एक गुमशुदगी की FIR, फिर दलौदा पुलिस का एक्शन प्लान, तीनों बालिकाओं को किया दस्तयाब, इस प्रकरण में एक आरोपी गिरफ्तार, पढ़े नरेंद्र राठौर की खबर

मंदसौर। पुलिस अधीक्षक महोदय मन्दसौर सुनिल पाण्डे के निर्देशन में, अति. पुलिस अधीक्षक महोदय अमित वर्मा एवं एस.डी.ओ.पी महोदय मन्दसौर सौरभ कुमार के मार्गदर्शन मे चलाए जा रहे ओपरेशन मुस्कान के तहत थाना प्रभारी दलौदा संजीव सिह परिहार तथा  उनकी टीम द्वारा 3 दिन में 3 को दस्तयाब किया गया।

जानकारी के अनुसार दिनांक 6 दिसंबर को सुचनाकर्ता मांगीलाल पिता भेरुलाल धनगर में थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि मेरे छः लड़कियां हैं। मेरे दुसरे नम्बर की लड़की जिसकी उम्र 17 साल 8 माह 29 दिन हैं। आज मेरी लड़की घर पर ही थी, तभी शाम छः बजे करीब मेरी पत्नी का मेरे पास फोन आया की हमारी बेटी घर पर नहीं हैं, जो आस पास तलाश करते नही मिली। कोई अज्ञात व्यक्ति के द्वारा बहला फुसलाकर ले जाने का संदेह है। जिस पर थाना दलौदा पर अपराध क्रमांक 452/21 धारा 363 भादवि कायम कर दौराने विवेचना में अपह्त बालिका को दस्तयाब किया गया। साथ ही आरोपी जितेन्द्र पिता अमरू धनगर निवासी अफजलपुर जिला मन्दसौर को गिरफ्तार किया गया। 

इसी प्रकार दिनांक 27 दिसंबर को फऱियादी पुष्कर पिता रामेश्वर ब्राम्हण ने रिपोर्ट किया कि उसकी नाबालिक लडकी जिसकी 17 साल होकर पशुओ को पानी पिलाने का बोलकर चली गई है। जिस पर से अपराध क्रमांक 478/21 धारा 363 भादवि का कायम कर अपह्ता को दस्तयाब किया गया। 

इसी क्रम में दिनांक 31 दिसंबर को सुचना कर्ता सम्पतबाई पति नाथुलाल धनगर ने थाना हाजिर होकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी पोती बिना बताये घर से कही चली है। जिस पर थाना दलौदा में गुमशुदागी क्रमांक 70/21 कायम कर जांच में लिया गया। दौराने जांच गुमशुदगी मे गुमशुदा को दस्तयाब किया गया।   

उक्त कार्यवाही में उनि संजीव सिंह परिहार थाना प्रभारी दलौदा, उनि. नेहा ओरा जैन, सउनि ओपी राठौर, के.एल यादव, आर.के रावल, प्रआऱ अजय चौहान, नितीन विश्नार, दिगपाल सिंह, आशीष (सायबर सेल) मआर प्रियंका शर्मा, आरक्षक विक्रम, मनीष बघेल (सायबर सेल) और चालक संदीप पुरोहीत का सराहनीय योगदान रहा।