NEWS: राजकीय प्राथमिक विद्यालय आमलीखोरा में भामाशाह द्वारा गुप्तदान, हजारों रूपए का झूला और बेंच की भेंट, बना रहेगा आनंद का माहौल

राजकीय प्राथमिक विद्यालय आमलीखोरा में भामाशाह द्वारा गुप्तदान, हजारों रूपए का झूला और बेंच की भेंट, बना रहेगा आनंद का माहौल

NEWS: राजकीय प्राथमिक विद्यालय आमलीखोरा में भामाशाह द्वारा गुप्तदान, हजारों रूपए का झूला और बेंच की भेंट, बना रहेगा आनंद का माहौल

प्रतापगढ़। राजकीय प्राथमिक विद्यालय आमलीखोरा में आनंददायी शिक्षण हेतु भामाशाह द्वारा गुप्त दान कर बच्चों के लिए झूला और बेंचों का सहयोग किया गया, अध्यापिका ममता शर्मा ने बताया कि  सरकारी विद्यालय के प्रति अभिभावक और बच्चे पूरे मन से जुड़े, विद्यालय में हर समय एक आनंद का माहौल बना रहे

बच्चे उत्साह के साथ शिक्षण कार्य में निरंतर लगे रहे इसी उद्देश्य से राजसमंद, चूरू और हनुमानगढ़ से गुप्त दान के रुप में भामाशाह ने विद्यालय के माहौल को उत्साह पूर्ण बनाने के लिए, बच्चों की कि आनंददायी गतिविधि के लिए लगभग 17500 से निर्मित झूले और 3 बेंचो का विद्यालय परिवार को सहयोग दिया 

भामाशाह द्वारा भेंट की गई सामग्री को बच्चों द्वारा रंग-बिरंगे कलरों के माध्यम से और भी सुंदर और आकर्षक बनाया गया इस कार्य में आमलीखोरा गांव की टीम जितेंद्र मीणा हरीश मीणा मदन मीणा श्याम लाल मीणा गोपाल मीणा शंभू मीणा वसुंधरा मीणा पार्वती दमामी कमलेश मीणा मनीष मीणा आदि ने सहयोग किया 

अध्यापिका ममता शर्मा के का उद्देश्य है कि एक सरकारी विद्यालय को आदर्श विद्यालय के रूप में प्रस्तुत करने सरकारी विद्यालय के प्रति अभिभावकों, ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में सम्मान की भावना विकसित करने के उद्देश्य से, अधिक से अधिक बच्चे सरकारी विद्यालय से जुड़े तथा सरकारी विद्यालय के प्रति ग्रामीण क्षेत्र में समर्पण की भावना जागृत करने के उद्देश्य से लगातार एक छोटे से प्राथमिक विद्यालय को छोटी सी जगह में सुंदर बनाने का 8 साल से एकल शिक्षिका होने के बाद भी निरंतर प्रयास किया जा रहा है 

इससे पूर्व भी अध्यापिका द्वारा भामाशाह के माध्यम से और ग्राम पंचायत नारायणखेडा के सहयोग से विद्यालय सौंदर्यीकरण हेतु लॉकडाउन  के दौरान भी कई कार्य किए गए विद्यालय परिवार और ब्राह्मणों द्वारा भामाशाह द्वारा भेंट की गई सामग्री के लिए आभार और धन्यवाद व्यक्त करता है