HADSA: घर से निकली थी बकरी चराने,फिर हुआ ऐसा हादसा,कि तीन चचेरी बहनों के घर में पसरा मातम,अब पुलिस कर रही मामले की जांच

घर से निकली थी बकरी चराने,फिर हुआ ऐसा हादसा,कि तीन चचेरी बहनों के घर में पसरा मातम,अब पुलिस कर रही मामले की जांच

HADSA: घर से निकली थी बकरी चराने,फिर हुआ ऐसा हादसा,कि तीन चचेरी बहनों के घर में पसरा मातम,अब पुलिस कर रही मामले की जांच

छोटीसादड़ी। शुक्रवार को धोलापानी क्षेत्र स्थित सियाखेड़ी पंचायत के कुड़ी फला में बकरियां चराने गई तीन चचेरी बहनों की एक साथ पानी डूबने से मौत हो गई। जैसे ही इस बात को जानकारी परिजनों को लगी तो पूरे घर में मातम छा गया। बाद मेें सूचना पर थानाधिकारी शंकरलाल अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। जहां तीन शवों को तलाई से बाहर निकलवाया।


 जानकारी केे अनुसार पिंकी पिता कैलाश मीणा उम्र 7 वर्ष, माया पिता कांतिलाल मीणा उम्र 8 वर्ष, अनीता पिता शंकर लाल मीणा उम्र 11 वर्ष व माया पिता कैलाश मीणा अन्य बालिकाओं के  साथ घर से बकरियां चराने निकली थी। जहां वह जंगल में बकरियां चरा रही थी इसी बीच माया पिता कैलाश मीणा दूर चर रही बकरियों को लेने के लिए चली गई।

वहीं बाकी बची बालिकाएं तलाई में नहाने के लिये उतर गई। जिनकी पानी में डूबने से मौत हो गई। बाद में जब माया पिता कैलाश मीणा वापस तलाई के पास लौटी तो वह वहां का नजारा देख हतप्रद रह गई। क्योंकि तलाई के किनारे पर सिर्फ कपड़े व चप्पल पडे दिखाई दिए व उसके साथ वाली बालिकाएं नहीं दिखी।

बाद में इस बात की जानकारी परिजनों को मिलने पर वह मौकेे पर पहुंच गये व पुलिस को इसकी सूचना दी। तत्पश्चात मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से तलाई मेें शव तलाशने का कार्य शुरू किया। जिसके बाद एक-एक कर तीनों बालिकाओं के शवों को बाहर निकाला गया। वहीं पुलिस ने मौके पर ही पंचनामा तैयार तीनों शवों को पीएम के लिये शासकीय अस्पताल पहुंचा दिया। पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर आगे की जांच शुरू कर दी।