BIG NEWS: टोंक जेल में हो रहां है बंदियो के क़ानूनी व मौलिक अधिकारों का हनन, हाईकोर्ट वकील राजेंद्रसिंह तोमर ने दर्ज कराई शिकायत

टोंक जेल में हो रहां है बंदियो के क़ानूनी व मौलिक अधिकारों का हनन, हाईकोर्ट वकील राजेंद्रसिंह तोमर ने दर्ज कराई शिकायत

BIG NEWS:  टोंक जेल में हो रहां है बंदियो के क़ानूनी व मौलिक अधिकारों का हनन, हाईकोर्ट वकील राजेंद्रसिंह तोमर ने दर्ज कराई शिकायत

प्रतापगढ़। जिला करागार टोंक में बंदियो के क़ानूनी एवं मौलिक अधिकारों के हंनन होने का आरोप लगा दिल्ली हाई कोर्ट के वकील राजेन्द्रसिंह तोमर ने एक बार फ़िर से राज्य के मुख्यमन्त्री, ड़ीजी जेल ग्रहसचिव, जिला न्यायाधीश, जिला कलेक्टर, जिला एसपी और जेल अधीक्षक राज्य मनवाधिकार आयोग सहित राजस्थान हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार विजिलेंस के यहाँ शिकायतें दर्ज कराई हैं 

ज्ञात हो कि वकील तोमर व टोंक जेल में बन्द उनके मुबकिल्लो ने ही पिछले दिनो जिला जेल में चल रहे अवैध चौथ बसूली के खेल की शिकायतें कर इस गोल माल का भांडा फोड़ किया था 

जेल प्रशासन चाहें कुछ भी कहे पर इसी मामले में तत्कालीन टोंक जेल के अधीक्षक बद्रीलाल मीना का ट्रांस्फ़र भी किया गया था ओर सारे मामले की जाँच जेल मुख्यालय की बनी जाँच कमेटी अभी कर रही है ओर इस बाबत कोर्ट के आदेश पर थाना कोतवाली टोंक में भी मुक़दम्मा दर्ज किया जा चूका हैं 

अधिवक्ता राजेन्द्र तोमर ने आज प्रेस ब्यान जारी करते हुए बताया कि उपरोक्त बाबत जेल कर्मियों की शिकायतें करने वाले उनके दो मुब्बकिलो को षड्यत्र के तहत जेल प्रशासन ने पहले ही टोंक जेल से अन्य जेल में भेज दिया हैं अब उनके एक अन्य मुब्बकिल बन्दी विकाश पुत्र जगदीश जो इस मामले में शिकायतकर्ता भी हैं ओर बरतमान में जिला जेल टोंक में ही हवालाती बंदी हैं 

उसके साथ सम्बंधित जेल अधिकारी व कर्मचारी ग़ैर क़ानूनी ब्योहार कर उसे भिन्न भिन्न तराह से जेल में प्रताड़ित कर रहे हैं उसके साथ मार पीट की व करवाई जा रही हैं उसे ब्यान बदलने पर मजबूर किया जा रहां हैं ओर बन्दी के मानवीय व मौलिक अधिकारों के साथ साथ उसके क़ानूनी अधिकारों का भी हनन किया जा रहां हैं 

उसे नियमानुसार उसके वकील से जेल एसटीड़ी से बात तक नही कराई जा रही बन्दी व उसके अधिवक्ता राजेन्द्र तोमर द्वारा बार बार निवेदन करने पर भी उनके फ़ोन नम्बरो को बन्दी विकाश के जेल नम्बरो से नही जोड़ा जा रहां ताकी वह अपने अधिवक्ता से बात कर क़ानूनी मशबरा कर सके या अपनी शिकायते उन्हें बता सके जो की एक बन्दी का क़ानूनी अधिकार है बकिल तोमर ने अपनी शिकायत में यहाँ तक आरोप लगाए हैं की टोंक जिला जेल प्रशासन उनके मुब्बकिल बन्दी विकाश की कभी भी हत्या कर व करवा सकता हैं 

वकील तोमर ने उपरोक्त शासन प्रशासन के अधिकारियों को भेजी अपनी शिकायतों की प्रति पत्रकारों को भेजते हुए बताया हैं की यदि जल्द ही उनकी शिकायतों पर कर्यबाही नही की गईं तो वह इस बाबत राजस्थान हाई कोर्ट ओर राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग में रिट याचिकायें दायर करेंगे! ओर यदि उनके उपरोक्त मुब्बकिल के साथ कोई भी अनहोनी होती हैं तो इसके लिए सीधा सीधा टोंक जिला जेल प्रशासन ज़िम्मेदार होगा!

जरिकर्ता- राजेन्द्रसिंह तोमर एडवोकेट.  मो. -9818951279- 9811371054