BIG BREAKING: अगर 45 साल से कम उम्र के व्यक्ति के लगाई को-वैक्सीन, तो होगी दंडात्मक कार्यवाही, निलंबित करने के साथ होगा संस्था का लायसेंस निरस्त, आदेश जारी

अगर 45 साल से कम उम्र के व्यक्ति के लगाई को-वैक्सीन, तो होगी दंडात्मक कार्यवाही, निलंबित करने के साथ होगा संस्था का लायसेंस निरस्त, आदेश जारी

BIG BREAKING:  अगर 45 साल से कम उम्र के व्यक्ति के लगाई को-वैक्सीन, तो होगी दंडात्मक कार्यवाही, निलंबित करने के साथ होगा संस्था का लायसेंस निरस्त, आदेश जारी

नीमच। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्यप्रदेश द्वारा मंगलवार को प्रदेश के सभी जिला चिकित्सा, स्वास्थ्य और जिला टीकाकरण अधिकारी को कोविड-19 के टीकाकरण गाइडलाइन के संबंध में एक आदेश जारी किया गया है। जिसमें बताया गया है कि भारत शासन के निर्देशानुसार 45 साल से अधिक आयुवर्ग के समस्त नागरिकों का टीकाकरण दिनांक- 1 अप्रैल से शुरू हो गया है। जिसके तहत जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाए

यह निर्देश- 

1. 45 साल से अधिक आयुवर्ग के नागरिकों का ही कोविड-19 टीकाकरण किया जाए 

2. 45 साल से कम उम्र के नागरिकों का टीकाकरण ना हो, सुनिश्चित करें। यदि किसी भी प्रकार की शिकायत, सूचना अथवा पर्यवेक्षण रिपोर्ट में यह समक्ष आता है कि केंद्रों पर कार्यरत शासकीय और निजी टीमों द्वारा 45 साल से कम उम्र के नागरिक को टीकाकरण किया गया है, तो उनके खिालाफ कठोर दंडात्मक कार्यवाही करते हुए तत्काल मुख्य चिकत्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा निंलबन और प्रायवेट संस्था का पंजीयन मिरस्त करने की कार्यवाही की जाए 

3. दिनांक- 3 अप्रैल के बाद से हेल्थ केयर वर्कर्स एवं फं्रट लाइन वर्कर्स के नये पंजीयन ना किये जाए, केवल इसके पूर्व में किए गए पंजीकृत हितग्राहियों का टीकाकरण कोविड-एप्प का उपयोग करते हुए किया जाए 

4. हेल्थ केयर के कर्मचारी और लाइन कर्मचारी जिन्हे दिनांक- 3 अप्रैल के पूर्व कोविड-19 का पहला डोज दिया जा चुका है, उन्हे नियमानुसार कोविशील्ड वैक्सीन का द्वितीय टीका 8 सप्ताह के पूर्व एवं कोवैक्सीन का द्वितीय टीका 4 से 6 सप्ताह के अंतराल किया जाना सुनिश्चित करे। 

5. इस हेतु सभी विभाग प्रमुखों के माध्यम से द्वितीय डोज से वंचित सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को पुनः स्मरण पत्र जारी कराये ताकि उनका पूर्ण टीकाकरण किया जा सके।