OMG ! नीमच में कांग्रेस की ट्रेक्टर रैली में अजीबों गरीब मामला, कार्यकर्ता किसानों के सम्मान में-आये नजर मैदान में, तो मनासा की मंगला चौधरी पार्टी लाईन से दिखी अलग, सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल, बयान बाजी का दौर हुआ शुरू

नीमच में कांग्रेस की ट्रेक्टर रैली में अजीबों गरीब मामला, कार्यकर्ता किसानों के सम्मान में-आये नजर मैदान में, तो मनासा की मंगला चौधरी पार्टी लाईन से दिखी अलग, सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल, बयान बाजी का दौर हुआ शुरू

OMG ! नीमच में कांग्रेस की ट्रेक्टर रैली में अजीबों गरीब मामला, कार्यकर्ता किसानों के सम्मान में-आये नजर मैदान में, तो मनासा की मंगला चौधरी पार्टी लाईन से दिखी अलग, सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल, बयान बाजी का दौर हुआ शुरू

नीमच। सोमवार को कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन से जिला कांग्रेस के नेतृत्व में एक विशाल ट्रेक्टर रैली का आयोजन किया गया था। विशाल ट्रेक्टर रैली के दौरान नीमच, जावद, जीरन और मनासा ब्लाॅक से सैकड़ों कांग्रेस के कार्यकर्ता इस विशाल रैली का हिस्सा बने। ट्रेक्टर रैली के दौरान जहां एक और सैकड़ों कार्यकर्ता कृषि बिल का विरोध करते हुए नजर आए, तो वहीं दूसरी और मनासा ब्लाॅक से रैली में शामिल हुई मंगला चौधरी अपने अलग ही अंदाज में नजर आई।

जी हां, दरअसल सोशल मीडिया पर कांग्रेस की विशाल ट्रेक्टर रैली से जुड़ा एक फोटों वायरल हो रहा है। जिसमे मनासा ब्लाॅक में निवास करने वाली मंगला चौधरी ट्रेक्टर में सवार नजर आई, और उनके हाथ में एक तख्ती थी। जिस पर लिखा था ‘‘मोदी आबाद-जनता बर्बाद‘‘, साथ ही तख्ती पर दूध का ग्लास बना हुआ था, और उसके दाम 52 रूपए प्रति लीटर लिखे हुए थे। 

सोशल मीडिया पर वायरल ब्लाॅक कांग्रेस मनासा की मंगला चौधरी के इस अजिबों-गरीब प्रदर्शन पर भाजपा जीरन मंडल अध्यक्ष मधुसूदन राजौरा का भी एक बड़ा बयान सामने आया है। अपना बयान जारी करते हुए उन्होंने कहा कि मेने यह बात पहले ही कही थी, कि कांग्रेसी सिर्फ नौटंकी करने जा रहे है। इनकों किसानों से कोई लेना-देना नहीं है। यह समर्थन करने गए थे, या विरोध, इनकों भी पता नहीं चल रहा है। पूरी कांग्रेस दुविधा में है, कि दूध क्या फैक्ट्रियों से आता है, जो यह दूध के भाव का विरोध कर रहे है। 

हिन्दी खबरवाला ने जब इस मामले के संबंध में ब्लाॅक कांग्रेस मनासा के अध्यक्ष गोपाल विजयवर्गीय से चर्चा की, तो उन्होंने बताया कि मनासा ब्लाॅक से कई कार्यकर्ता रैली का हिस्सा बने थे। रैली के दौरान अधिकतम समय वह विरोध प्रदर्शन में शामिल रहे। ऐसे में उन्होंने इस बात पर गौर नहीं किया। यानिं की कुल मिलाकर इस संबंध में उन्हे कोई जानकारी नहीं है। 

ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष से चर्चा के बाद जब हिन्दी खबरवाला की टीम ने मंगला चौधरी के पति कमल किशोर चौधरी से चर्चा की, तो उन्होंने बताया कि वह दूध का ग्लास नहीं था, वह पेट्रोल-डिजल जो है, उसका विरोध किया गया था। देश के प्रधानमंत्री मोदी है। रैली तो थी, वो... लेकिन हर चीज में महंगाई है। वह दूध का विरोध नहीं था। पेट्रोल- डिजल का विरोध किया गया था। साथ ही मंगला चौधरी के पति कमल किशोर चौधरी ने यह भी बताया कि उनकी पत्नी ऑल इंडिया कांग्रेस वकर्स कमेटी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी है। साथ ही नेशनल प्रभारी भी है। 

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा बीते दिनों कृषि बिल लागू किया गया था। जिसे कांग्रेस ने किसान विरोध बिल बताया था, और इसी विरोध के चलते देशभर में कांग्रेस द्वारा विशाल ट्रेक्टर रैली निकाली गई, इसी क्रम में नीमच में भी रैली का आयोजन किया गया, और इसी रैली में मनासा ब्लाॅक से मंगला चौधरी भी शामिल रही।