MP BY ELECTION: उपचुनाव से पहले सताने लगी किसानों और खेतों की चिंता,अन्नदाता फिर बने मोहरा, सड़क पर उतरी कांग्रेस, कमलनाथ ने बीजेपी को बताया किसान विरोध सरकार

उपचुनाव से पहले सताने लगी किसानों और खेतों की चिंता,अन्नदाता फिर बने मोहरा, सड़क पर उतरी कांग्रेस, कमलनाथ ने बीजेपी को बताया किसान विरोध सरकार

MP BY ELECTION: उपचुनाव से पहले सताने लगी किसानों और खेतों की चिंता,अन्नदाता फिर बने मोहरा, सड़क पर उतरी कांग्रेस, कमलनाथ ने बीजेपी को बताया किसान विरोध सरकार

मध्य प्रदेश की सियासत में हमेशा से राजनीतिक दलों की राजनीति के केंद्र में रहने वाले किसान एक बार फिर चुनावी हथियार बन गए हैं. प्रदेश की 27 विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस को किसान और खेत की चिंता सताने लगी है

किसानों के मुद्दे पर किसान कांग्रेस आज भोपाल में कृषि मंत्री कमल पटेल के घर का घेराव करने सड़क पर उतरी

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज कांग्रेस किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर पिछली कांग्रेस सरकार में हुए फैसलों को गिनाया. कमलनाथ ने एक बार फिर दावा किया कि उनकी सरकार ने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया

कमलनाथ का कहना है कि किसान हित में फैसले लेने के कारण विपक्षी दलों की आंखों में खटक ने किसान हितैषी सरकार को गिरा दिया गया

कमलनाथ ने बीजेपी को किसान विरोधी बताते हुए आगामी उपचुनाव में जवाब देने की अपील की.कमलनाथ ने किसान मोर्चा की बैठक में कहा उपचुनाव प्रदेश का भविष्य का चुनाव है

किसानों का, गरीबों का, इस प्रदेश की जनता के भविष्य का उपचुनाव है. ऐसे में किसान विरोधी दलों को उखाड़ फेंकने के लिए किसानों को आगे आना होगा

कृषि मंत्री के घर का घेराव-

कमलनाथ के बीजेपी सरकार के खिलाफ दिए गए मंत्र के बाद किसान कांग्रेस मोर्चा आज भोपाल में सड़कों पर उतरा और जमकर नारेबाजी की. प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल के घर का घेराव करने निकले कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

चुनावी गणित-

मध्य प्रदेश में अब 27 सीटों पर उपचुनाव होना है. इन सभी सीटों पर किसान वोट निर्णायक भूमिका में हैं और यही कारण है की बीजेपी और कांग्रेस के राडार पर किसान और किसानों से जुड़े हुए मुद्दे आ गए हैं

ताकि उपचुनाव से पहले खुद को सबसे बड़ा किसान हितैषी राजनीतिक दल बताकर किसान वोटरों को रिझाया जा सके

बीजेपी का जवाबी हमला-

कांग्रेस के सवाल पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने जवाबी हमला बोला. पटेल ने एक बार फिर पिछली कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि किसी भी किसान का दो लाख तक का कर्ज माफ नहीं हुआ

उन्होंने अपनी सरकार को किसान हितैषी बताते हुए 18 सितंबर को फसल बीमा योजना की करोड़ों रुपए की राशि किसानों के खाते में जमा करने की बात कही. कृषि मंत्री कमल पटेल ने पिछली कांग्रेस सरकार को किसान विरोधी करार दिया