BIG BREAKING: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने लगाया बड़ा आरोप, कमलनाथ को कहा महमूद गजनवी, बोले, MP से कांग्रेस मुख्यालय पहुंचाए गए करोड़ों रुपये

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने लगाया बड़ा आरोप, कमलनाथ को कहा महमूद गजनवी, बोले, MP से कांग्रेस मुख्यालय पहुंचाए गए करोड़ों रुपये

BIG BREAKING:  गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने लगाया बड़ा आरोप, कमलनाथ को कहा महमूद गजनवी, बोले, MP से कांग्रेस मुख्यालय पहुंचाए गए करोड़ों रुपये

भोपाल. मध्य प्रदेश में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर अब तक एक दूसरे पर हमलावर बीजेपी और कांग्रेस के बीच नया सियासी घमासान शुरू हो गया है

प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बड़ा आरोप लगाया है, उन्होंने कमलनाथ की तुलना महमूद गजनवी से करते हुए प्रदेश में भ्रष्टाचार और करोड़ों रुपए कांग्रेस मुख्यालय में पहुंचाने का आरोप लगाया है

नरोत्तम मिश्रा ने कहा- कांग्रेस सरकार में हुए भ्रष्टाचार की रकम दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में पहुंचाई गई है

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा यहां तक कह गए कि प्रदेश में बच्चों का कुपोषण दूर करने वाली राशि का इस्तेमाल राहुल गांधी का कुपोषण दूर करने पर खर्च कर दिया गया

मिश्रा ने कहा कि गृह विभाग को मिली जानकारी के मुताबिक केंद्रीय एजेंसियों के पास इस बात का इनपुट है और राज्य सरकार केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट लेने के बाद बड़ी कार्रवाई करेगी, मिश्रा ने प्रदेश से करोड़ों रुपए कांग्रेस मुख्यालय में पहुंचाने के मामले की जांच ईओडब्ल्यू से कराने की बात कही है

कांग्रेस ने पूछा-मंत्रिमंडल समूह की जांच का क्या हुआ-

नरोत्तम मिश्रा के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर आरोप लगाने से कांग्रेस भड़क गई है. पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने प्रदेश सरकार को चुनौती दी है कि वह किसी भी तरह की जांच करा ले. कांग्रेस पार्टी हर स्तर की जांच के लिए तैयार है

पटवारी ने कहा प्रदेश में उपचुनाव के दौरान आरोप-प्रत्यारोप लगाए गए थे. लेकिन अब विपक्ष समृद्ध मध्य प्रदेश के लिए प्रदेश सरकार को सहयोग दे रही है. लेकिन कांग्रेस पर आरोप लगाने वाली बीजेपी को इस बात का जवाब देना चाहिए कि बीते 15 साल में हुए भ्रष्टाचार पर कितनी जांच हुई और कितने नतीजे आए, पिछली सरकार के कामकाज की जांच के लिए बनाए गए मंत्रिमंडल समूह की जांच रिपोर्ट का क्या हुआ

जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जांच के लिए तैयार है. आगामी विधानसभा सत्र में सरकार से हर एक मामले पर जवाब मांगा जाएगा