BIG BREAKING: धार्मिक सामाजिक आयोजनों के चल समारोह, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने और शेयर करने पर प्रतिबंध, जिला कलेक्टर मयंक अग्रवाल ने जारी किये प्रतिबंधात्मक आदेश, पढ़े खबर

धार्मिक सामाजिक आयोजनों के चल समारोह, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने और शेयर करने पर प्रतिबंध, जिला कलेक्टर मयंक अग्रवाल ने जारी किये प्रतिबंधात्मक आदेश, पढ़े खबर

BIG BREAKING: धार्मिक सामाजिक आयोजनों के चल समारोह, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने और शेयर करने पर प्रतिबंध, जिला कलेक्टर मयंक अग्रवाल ने जारी किये प्रतिबंधात्मक आदेश, पढ़े खबर

नीमच। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मयंक अग्रवाल द्वारा जिले में कोविड- 19 संक्रमण एवं आगामी त्यौहारों को दृष्टिगत रखते हुए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा- 144 के प्रावधानों के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। इसके तहत कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए किसी भी धार्मिक/सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी।

आगामी पर्व मकर संक्रांती, गणतंत्र दिवस, सोमवती अमावस्या, बसंत पंचमी, वैलेंटाईन डे, हजरत अली जन्म दिवस, महाशिवरात्री, होली दहन, और धुलेण्डी त्यौहार के मददेनजर जुलुस, जलसा रैली, चल समारोह के दौरान धार्मिक स्थलों पर गुलाल फेंकना अशोभनीय नारेबाजी करने पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही फेसबुक, व्हाट्सअप और ट्वीटर आदि सोशल मीडिया साईट्स पर की गई आपत्तिजनक पोस्ट सामग्री डालने पर उस पर होने वाली कमेट्स/क्रास कमेंट करने पर प्रतिबंध रहेगा।

कोई भी मकान मालिक एवं व्यापारिक प्रतिष्ठान के मालिक / प्रबंधक अपने मकान अथवा संस्थान को उस समय तक किराए पर नहीं देंगे।  जब तक कि किरायेदार का पूर्ण विवरण संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी को प्रस्तुत नहीं कर देते। जिले के समस्त होटलों, लॉज धर्मशाला के मालिकों / प्रबंधकों तथा व्यापारिक प्रतिष्ठान के मालिकों / प्रबंधकों द्वारा उनके द्वारा नियोजित कर्मचारीगण, नौकर, चौकीदार और सुरक्षा गार्ड आदि के निवास स्थान, चाल-चलन आदि का विवरण अपने क्षेत्र के थाना प्रभारी को आवश्यक रूप से प्रस्तुत किया जायेगा। 

साथ ही व्यापारिक प्रतिष्ठान व अन्य संस्थान के मालिक किसी भी व्यक्ति को अपने प्रतिष्ठान काम पर रखने के पूर्व उसका सम्पूर्ण विवरण व आवश्यक जानकारी संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी को देगें।  जिले के शासकीय अथवा निजी ठेके पर चल रहे निर्माण कार्य चाहे वे किसी भी स्वरूप के हो ठेकेदार द्वारा नियोजित स्थायी अथवा अस्थायी कर्मचारियों को अस्थाई रूप से दैनिक मजदूरी पर बाहर से लाकर काम पर लगाये गये श्रमिकों / मजदूरों की सम्पूर्ण जानकारी उनके स्थाई पते सहित 7 दिवस में संबंधित थाना प्रभारी को प्रस्तुत की जायेगी। 

आगामी त्यौहारों एवं विभिन्न आयोजनों के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर नियंत्रण के लिए सर्वोच्चन्यायालय के नियमों का पालन किया जाना आवश्यक होगा। कोई भी व्यक्ति आग्नेय शस्त्रों (फायर आर्म्स), घातक अस्त्र-शस्त्र जैसे बन्दूक, पिस्तोल, रिवाल्वर, बल्लम, खंजर और शमसीर या अन्य किसी भी प्रकार के घातक हथियार जिससे जनसाधारण को चोट पहुंच सकती है, या जिसके प्रयोग से लोकहित को खतरा हो, सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित नहीं कर सकेगा, चाहे वह व्यक्ति लायसेंसधारी ही क्यों न हों। उक्त आदेश तत्काल प्रभावशाली रहेगा।