BIG NEWS : मप्र में अब स्कूलों को लेकर नई गाइडलाइन जारी,शिक्षकों सहित बच्चो को लेकर जरुरी होंगे ये निर्देश,हॉस्टल को खोलने पर भी दिशा निर्देश जारी,पढ़े खबर

मप्र में अब स्कूलों को लेकर नई गाइडलाइन जारी,शिक्षकों सहित बच्चो को लेकर जरुरी होंगे ये निर्देश,हॉस्टल को खोलने पर भी दिशा निर्देश जारी,पढ़े खबर

BIG NEWS : मप्र में अब स्कूलों को लेकर नई गाइडलाइन जारी,शिक्षकों सहित बच्चो को लेकर जरुरी होंगे ये निर्देश,हॉस्टल को खोलने पर भी दिशा निर्देश जारी,पढ़े खबर

भोपाल/ मध्य प्रदेश में 100 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल खोलने के आदेश के गाइडलाइन जारी हो गयी है. स्कूल शिक्षा विभाग की इस गाइडलाइन के तहत प्रदेश में पहली से लेकर कक्षा बारहवीं तक के स्कूल और हॉस्टल 100 फीसदी क्षमता के साथ अब शुरू किए जाएंगे,ऑनलाइन क्लासेज पहले की तरह ही जारी रहेगी,स्कूल और हॉस्टल में छात्र- छात्राओं को भेजने के लिए माता-पिता की अनुमति अनिवार्य होगी,

नई गाइडलाइन में माता पिता की अनुमति को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने अपनी गाइडलाइन में प्रावधान किया है तो वही पहले की तरह ही ऑनलाइन क्लासेस का विकल्प भी जारी रहेगा,हालांकि इससे पहले स्कूल खोलने के आदेश के साथ ही ऑनलाइन क्लासेस को बंद करने की बात कही गई थी,पर बाद में जारी की गई गाइडलाइन में शासन ने ऑनलाइन क्लासेस को जारी रखने का निर्णय लिया है,

क्या है नई गाइडलाइन....
स्कूल शिक्षा विभाग की जारी गाइडलाइन के मुताबिक कक्षा पहली से लेकर कक्षा 12वीं तक की सभी क्लासेस पूरी क्षमता के साथ संचालित होंगी,सभी हॉस्टल वाले स्कूल कक्षा पहली से लेकर कक्षा बारहवीं तक 100% छात्र-छात्राओं की उपस्थिति के साथ खुलेंगे. स्कूल और हॉस्टल में स्टूडेंट्स की उपस्थिति के लिए पेरेंट्स की अनुमति अनिवार्य होगी.

स्कूल प्रबंधन समिति आवश्यकता के अनुसार ऑनलाइन और डिजिटल माध्यम से पढ़ाई के संबंध में खुद निर्णय ले सकेंगे. स्कूलों में दूरदर्शन और व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से अभी भी शैक्षणिक सामग्री भेजी जाएगी. सभी स्कूलों शिक्षक/स्टाफ और हॉस्टल में सभी स्टाफ का डबल डोज टीकाकरण अनिवार्य है. टीकाकरण के संबंध में विभागीय आदेश पहले की तरह ही रहेंगे. किसी शिक्षक या छात्र के संक्रमित होने पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की सहमति से जारी विभागीय आदेश माने जाएंगे. भारत सरकार राज्य स्तर के समय-समय पर जारी s&op एवं कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाना अनिवार्य ही होगा,