BIG NEWS: रतलाम में ट्रिपल मर्डर मामला, खंगाले 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे, 2 संदिग्धो की तलाश में जुटी पुलिस, 10-10 हजार का इनाम किया घोषित

रतलाम में ट्रिपल मर्डर मामला, खंगाले 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे, 2 संदिग्धो की तलाश में जुटी पुलिस, 10-10 हजार का इनाम किया घोषित

BIG NEWS:  रतलाम में ट्रिपल मर्डर मामला, खंगाले 100  से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे, 2 संदिग्धो की तलाश में जुटी पुलिस, 10-10 हजार का इनाम किया  घोषित

रतलाम। औद्योगिक थाना क्षेत्र के जवाहर नगर के समीप स्थित राजीव नगर में हुए सनसनीखेज तिहरे हत्याकांड में पुलिस को हत्यारों के बारे में कई जानकारियां मिली है। हत्याकांड को अंजाम देने के बाद मृतक परिवार के किरायेदार का एक्टिवा वाहन लेकर भागे दो व्यक्तियों का सीसीटीवी फुटेज भी मिला है। 

रात का समय होने से दोनों के चेहरे स्पष्ट दिखाई नहीं दे रहे हैं। पुलिस हुलिये के आधार पर उनकी पहचान करने के प्रयास कर रही है। हत्यारे मृतक परिवार के किरायेदार का जो एक्टिवा वाहन लेकर भागे थे वह उनके घर से करीब ढाई किलोमीटर दूर देवरादेव मंदिर के पास लावारिस हालत में मिला है। एसपी ने हत्यारों की गिरफ्तार पर 10-10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। सूचना देने वाले को इनाम देने के साथ उसका नाम गोपनीय रखा जाएगा।

गौरतलब है कि 25 नवंबर की रात राजीव नगर निवासी 50 वर्षीय गोविंद सोलंकी, उनकी पत्नी 45 वर्षीय शारदा और 21 वर्षे बेटी दिव्या सोलंकी की उनके तीन मंजिला मकान के दूसरी मंजिल पर स्थित घर में अलग-अलग दो कमरों में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड का खुलासा दूसरे दिन 26 नवंबर को सुबह करीब 8ः30 बजे हुआ जब उनके मकान की तीसरी मंजिल पर किराये से रह रही 23 वर्षीय ज्वेलिका चार्ल्स पुत्री अश्विन चार्ल्स निवासी ल्यूसेन का बगीचा गुना अपनी एक्टिवा की चाबी लेने गोविंद के घर गई थी।

वह गोविंद की बेटी दिव्या की सहेली थी और कई बार चॉबी दिव्या के पास ही रहती थी। ज्वेलिका जब गोविंद के घर पहुंची तो दरवाजा अटका हुआ था। धकेलने पर दरवाजा खुलते ही अंदर फर्श पर गोविंद का शव व पलंग पर शारदा का शव पड़ा था, वहीं पीछे के दूसरे कमरे में दिव्या का शव भी खून से सना पड़ा था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई थी। एसपी गौरव तिवारी शुक्रवार सुबह औद्योगिक क्षेत्र थाने पहुंचे और जांच को लेकर दिशा-निर्देश दिए।

25 से अधिक लोगों से पूछताछ-

पुलिस ने अब तक 25 से अधिक लोगों से पूछताछ की है। इनमें करीब एक दर्जन संदिग्ध शामिल हैं। वहीं आसपास के लोगों, मृतकों के रिश्तेदारों से भी पुलिस निरंतर पूछताछ कर रही है। मृतकों के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल भी निकाली गई है। एक टीम उनकी जांच में जुटी है। पुलिस यह भी पता लगा रही है कि जेवर खरीदने कौन-कौन गया था, अवैध शराब कौन देता था।

डेढ़ लाख के जेवर खरीदने की तस्दीक कर रहे-

पूरे मामले में अब तक यह बात सामने आई है कि गोविंद सोलंकी ने कुछ समय पहले तीस लाख रुपये में जमीन बेची थी। वे स्टेशन रोड स्थित हेयर सैलून पर काम करते थे। उनकी बेटी दिव्या नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते करीब आठ माह से कॉलेज बंद होने से वह वर्तमान में प्राइवेट जॉब कर रही थी। शारदा के बारे में लोगों ने पुलिस को बताया कि वह अवैध शराब बेचने का कार्य करती थी। 24 नवंबर को मां-बेटी ने सराफा बाजार स्थित एक दुकान से करीब डेढ़ लाख रुपये के जेवर खरीदे थे। पुलिस इन सभी बातों की तस्दीक करने के साथ जांच कर रही है।

सौ से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे किए चेक-

एसपी गौरव तिवारी के अनुसार सौ अधिकारियों व जवानों की टीम जांच में लगी है। साइबर सेल भी कार्य कर रही है। अब तक सौ से अधिक सीसीटीवी कैमरे चेक किए गए हैं। घटना के बाद दो व्यक्ति किरायेदार युवती की एक्टिवा पर जाते सीसीटीवी कैमरे में दिखे हैं। इससे तय है कि घटना को दो लोगों ने अंजाम दिया। रात का समय होने से उनके चेहरे स्पष्ट नहीं दिख रहे हैं। वे किस तरफ भागे यह भी पता चला है। घटना के बाद अब तक कई जानकारियां मिली है, जिनकी जांच की जा रही है। लोगों ने यह भी बताया कि शारदा अवैध शराब बेचती थी। उनके घर कई लोगों का आना-जाना होता था। गोविंद ने 30 लाख में जमीन बेची थी। जांच की जा रही है।

हत्यारों ने कपड़े भी बदले-

हत्यारे वारदात करने के लिए स्वयं या किसी अन्य की एक्टिवा पर पहुंचे थे। मृतकों के घर से कुछ दूरी पर सूनसान इलाके में वाहन खड़ा कर वे पैदल घर गए थे। घटना करने के बाद वे किरायेदार की एक्टिवा लेकर भागे और वापस वहीं पहुंचे जहां वाहन खड़ा किया था। इसके बाद दोनों अलग-अलग वाहनों से आगे पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कपड़े भी बदले। इसके बाद वे किरायेदार की एक्टिवा देवरादेव नारायण नगर में छोड़कर कहीं भाग निकले।