CRIME: पति ने भाई बनकर कराई अपनी ही पत्नी की शादी,डेढ़ लाख रूपयों की भी ठगी,झांसे मेें आया युवक पहुंचा थाने,फिर इस तरह खुला राज

पति ने भाई बनकर कराई अपनी ही पत्नी की शादी,डेढ़ लाख रूपयों की भी ठगी,झांसे मेें आया युवक पहुंचा थाने,फिर इस तरह खुला राज

CRIME: पति ने भाई बनकर कराई अपनी ही पत्नी की शादी,डेढ़ लाख रूपयों की भी ठगी,झांसे मेें आया युवक पहुंचा थाने,फिर इस तरह खुला राज

खाचरोद। उज्जैन जिले के ग्राम दिवेल में एक अनोखा मामला प्रकाश में आया। जहां एक बिचौलिये ने पहले पति पत्नी को भाई बहन बताकर एक युवक से मिलवाया। इतना ही नहीं उसके बाद न्यायालय मेें ले जाकर ममेरे भाई बने पति अपनी ही पत्नी की युवक से शादी भी करा दी। इसके बदले में पति द्वारा झांसे में आये युवक से डेढ़ लाख रूपये भी वसूल लिये गये। बाद में शादी के बाद जब युवक की नई नवेली दुल्हन घर छोड़ जाने लगी तब इस कहानी से पर्दा उठा और बाद में पीडि़त युवक ने थाने जाकर पुलिस की शरण ली। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी पति-पत्नी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया। वहीं अब शादी कराने वाले बिचौलिये की तलाश की जा रही है।


जानकारी के मुताबिक दिनांक 19.09.2020 को फरियादी भेरूसिहं पिता भीमा गुर्जर 27 साल निवासी ग्राम दिवेल ने थाना खाचरोद पर रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें उसने बताया कि भगवान पिता जुझार गुर्जर ने शादी करवाने का झांसा देकर मुझे लडकी सुमन पिता रघुवीर व उसके ममेरे भाई विशाल पिता अनिल से मिलवाया। जहां विशाल द्वारा मुझसे कहा गया कि  सुमन के माता पिता नहीं है तो शादी करने के 1.50 लाख रु. देने होंगे। जिस पर भेरूसिंह ने हां कर दी तथा नागदा कोर्ट में भेरुसिंह तथा सुमन की नोटरी पर शादी करवाकर 1.50 लाख रु. ले लिये।

शादी के 04 दिन बाद जब विशाल सुमन को लेने भेरुसिंह के घर ग्राम दिवेल गया तो भेरुसिंह ने सुमन को भेजने से मना कर दिया। जिसके बाद फिर 2-3 बार सुमन ने घर से जाने कि कोशिश की लेकिन भेरुसिंह ने नहीं जाने दिया।

इस बीच दिनांक 19.09.2020 को सुमन अपना सामान लेकर घर से जाने लगी तो भेरुसिंह ने सुमन को रोककर पूछा की कहां जा रही हो। इस पर सुमन ने कहा कि विशाल मेरा पति है और मैं उसके पास जा रही हूं। और अगर तुमने मुझे नहीं रोकने की कोशिश की तो मैं तुम्हे झूठे केस में फंसा दूंगी या फिर मैं आत्महत्या कर लूंगी।
जिसके बाद पीडि़त थाने पहुंचा व अपनी और से शिकायत दर्ज कराई।

जिस पर थाना खाचरौद में अप. क्र. 441 / 2020 धारा 420,34 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया। बाद में  दौराने विवेचना आरोपी सुमन पिता रघुवीर जाति राजपूत 25 साल निवासी ग्राम कालीपुर जिला सुरजपुर ( छत्तीसगढ ) हा.मु. ग्राम दिवेल, व  विशाल पिता अनिल शर्मा 28 साल निवासी 5/12 ईष्ठी कॉलोनी पानी की टंकी के पास खातीवाड़ा टैंक इन्दौर गिरफ्तार कर  न्यायालय के समक्ष पेश किया। जहां से इन दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। वहीं इस मामले मेें फरार बिचौलिये आरोपी भगवान पिता जुझारसिंह गुर्जर निवासी ग्राम खुरमुडी थाना बिरलाग्राम की तलाश जारी है। 

इनकी रही कार्यवाही-
झांसा देकर शादी कराने एवं रूपयों की ठगी करने वाले आरोपियों को पकडऩे की कमान जहां खाचरोद थाना प्रभारी रविन्द्र कुमार बारिया द्वारा संभाली गई। वहीं उनके साथ उनि. मोनिका तिवारी, पुलिस जवान महेन्द्र रडोदिया, मुकेश गोयल, राजेन्द्रसिंह द्वारा भी मुख्य भूमिका निभाई गई।